Yuva Sahakar

Good Governance, Values And Leadership Through Cooperatives

Good Governance, Values And Leadership Through Cooperatives

Governance is the process of decision making and the process by which decisions are implemented. But good governance needs to go an extra step. Or should we say eight steps? Good governance has eight major characteristics. It is participatory, consensus oriented, accountable, transparent, responsive, effective and efficient, equitable and inclusive and follows the rule of law. It assures that corruption is minimized, the views of minorities are taken into account and that the voices of the most vulnerable ..

अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह- एक दृष्टिक्षेप - राजेश पांडे

अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह- एक दृष्टिक्षेप - राजेश पांडे

प्रतिवर्ष १४ नवंबर से २० नवंबर तक मनाया जाने वाला अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह, भारतीय सहकारी संस्थाओं का नव राष्ट्र निर्माण हेतु किए गए योगदान की संतुष्टि का जश्न है | क्योंकि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु सहकारिता को प्रजातंत्र का आधारस्तंभ मानते थे, यह सप्ताह आधुनिक भारत के इसी शिल्पकार के जन्मदिवस के उपलक्ष में शुरू होता है | साल दर साल इस सप्ताह ने विश्व के सबसे बड़े सहकारी आंदोलन का रुप धारण कर लिया है और छह सात लाख से भी अधिक सहकारी संस्थाएँ इस सप्ताह में जुडती जा रही हैं | इन ..

Empowering Of Cooperatives Through Education And Training

Empowering Of Cooperatives Through Education And Training

Training is developing oneself or others, by imparting skills and knowledge that relate to specific useful competencies with the goal of improving capability, capacity, productivity and performance of an individual and the organization he or she works for. Training is an organized procedure by which people learn knowledge and/or skill for a definite purpose...

Skills And Entrepreneurship Development Through Cooperatives

Skills And Entrepreneurship Development Through Cooperatives

According to American psychologist Carl Rogers "Skill Development involves the stretching and growing of becoming more and more of one's potentialities. It involves the courage to be. It means launching oneself fully into the stream of life". Alternatively, in simple words Skills development is the process of identifying your goals, analysing the skill gaps, and then developing and honing these skills...

Financial Inclusion Through Cooperatives

Financial Inclusion Through Cooperatives

Financial inclusion is generally defined as the availability of banking services at an affordable cost to disadvantaged and low-income groups. In India the basic tool of financial inclusion is having a saving or current account with a bank. To achieve inclusive growth in the country, expanding the scope of financial inclusion initiatives like immediate credit facilities, insurance facilities, financial advisory services etc. to reach out to people at the grass-root level is instrumental. Access to ..

Implementation Of Government Flagship Programs Through Cooperatives

Implementation Of Government Flagship Programs Through Cooperatives

Flagship schemes of the government of India are those schemes which are declared so by the union cabinet or the Development Evaluation Advisory Committee (DEAC) of Planning Commission. The list of flagship programmes can be modified by the DEAC or the Government from time to time. Flagship programmes derive their origin from the term flagship which is the main or most important ship of a country's navy and is symbolic of the main thrust of the nation's developmental policy. So these are the best and ..

Technology Adoption By Cooperatives

Technology Adoption By Cooperatives

Technology – The Need -It is generally believed now that expenditure on technology is an investment, not a iability. Technology has become the part and parcel of any organisation and the key determinant for success. It is positively changing the drive of all market sectors. The cooperatives too need to adapt to the changing times and adopt technology to work in a more professional manner to face the challenges of competition from other various corporate or private limited organisations. Adopting ..

Empowerment Of Youth, Women And Weaker Sections Through Cooperatives

Empowerment Of Youth, Women And Weaker Sections Through Cooperatives

Youth empowerment is the outcome by which youth, as change agents, gain the skills to impact their own lives and lives of other individuals, organizations and communities. Women Empowerment on the other hand refers to increasing and improving the social, economic, political and legal strength of the women, to ensure equal-right to women, and to make them confident enough to claim their rights. Weaker section is an indicative term and includes people with poor socio-economic and political background...

Jana Nidhi Successful Branch Awards

Jana Nidhi Successful Branch Awards

During the recently concluded AGM of NYCS, the awards for most successful branch were given out. Criteria for selection were formation of balanced Management Committee, involvement of committee in the daily operations, growth rate, profitability, overdue. Palakkad got the 1st position in the awards, the criteria for which included formation of balanced Management Committee, involvement of committee in the daily operations, growth rate, profitability and overdues...

युवाओं के सक्षमीकरण हेतू नयी कल्पनाओं की आवश्यकता -  व्ही. मुरलीधरन

युवाओं के सक्षमीकरण हेतू नयी कल्पनाओं की आवश्यकता - व्ही. मुरलीधरन

उन्होंने कहा की, देश की युवा जनता के सक्षमीकरण के लिये विशेष मेहनत की आवश्यकता है. इस युवा वर्ग के माध्यम से हम उद्यमिता का विकास कर सकते हैं, इनके द्वारा रोजगार सृजन किया जा सकता है. इस हेतु विशेष प्रयास की आवश्यकता है. वर्ष २०२० तक हमारे देश के ५०% नागरिक औसतन २९ वर्ष की आयु के होंगे. इन सभी लोगों का आर्थिक विकास करना हमारे लिए एक बहुत बडी चुनौती है. और एन.वाय.सीएस इस दिशा में अनेक प्रयत्न कर रहा है. हमे भारत को सर्वोच्च आर्थिक शक्ति बनाना है. ..

नॅशनल युवा कोआपरेटिव सोसायटी लिमिटेड

नॅशनल युवा कोआपरेटिव सोसायटी लिमिटेड

किसी भी राष्ट्र की प्रगती का मापदंड नियत करना हो, तो उस राष्ट्र कि युवा पीढ़ी की सोच, योग्यता, प्रतिभा तथा कौशल के मूल तक तक जाना अनिवार्य है| संपन्न एवं सक्षम पीढ़ी ही राष्ट्र को उन्नति के पथ पर ले जाने का सामर्थ्य रखती है| इसी सोच को अपनी विचारधारा में अंगीकृत करते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने देश भर में, सभी कौशल विकास के प्रयासों में समन्वय स्थापित करने हेतु भारत सरकार के तहत कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की स्थापना नवंबर २०१४ में की है|..

पं. दीनदयालजी उपाध्याय

पं. दीनदयालजी उपाध्याय

भारत की पावन भूमि पर जिन महापुरुषों ने जन्म लिया है, उनमे से एक प्रखर व्यक्तिमत्व, दीनदयालजी उपाध्याय थे. एकात्म मानववाद जैसी उन्नत विचारधारा रखने वाले उनके मन में समाज के सबसे पिछड़े हुए व्यक्ति तक को ऊपर उठाने की, उसका सामाजिक और आर्थिक उत्थान करने की ललक थी, लालसा थी...

ग्रामीण युवाओं के लिये अधिक अवसर - राजीव प्रताप रूढी

ग्रामीण युवाओं के लिये अधिक अवसर - राजीव प्रताप रूढी

देश में रोजगार और उद्यमिता के लिये शहरी युवाओं के सक्षमीकरण की जितनी आवश्यकता है, उतनी ही देश के ग्रामीण युवाओं के लिये भी है. आज भी गावों में एक हजार रुपये पर गुजर बसर करने वाले परिवार हैं. उन परिवारों के युवाओं को यदी उपयुक्त प्रशिक्षण देकर तयार किया जाय तो वे ८ से १० हजार रुपये महीना कमा सकते हैं. उन्हें आवश्यकता है योग्य प्रशिक्षण की. उपरोक्त बात केंद्रीय कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूढी जी ने कही. नॅशनल युवा को-ऑपरेशन सर्विस की आम सभा में आयोजित कार्यक्रम में प्रमुख अतिथी के रूप में उन्होंने ..

देश को कुशल श्रमशक्ति की आवश्यकता - राजेश पांडे

देश को कुशल श्रमशक्ति की आवश्यकता - राजेश पांडे

आज देश में एक उत्साह का वातावरण निर्माण हुआ है. देश के युवाओं में उत्साह और उनके लिए चुनौतियों का समंदर है. हमारे पास श्रमशक्ति तो बहुत है. लेकिन कुशल श्रमशक्ती नहीं है. हमें आने वाले कुछ सालों में कुशल श्रमशक्ती का निर्माण करना है. देश के युवाओं की कुशलता का विकास करना है. और यही हमारा सबसे पहला उद्येश है. उपरोक्त भावनाएँ नॅशनल युवा को- ऑपरेटिव्ह सोसायटी के अध्यक्ष राजेश पाण्डे जी ने व्यक्त की. एनवायसीएस की वार्षिक आमसभा में उन्होंने अपना मत प्रदर्शित किया...

बदलते औद्योगिक ढाँचें में युवाओं के लिये अनेक अवसर - धर्मेंद्र प्रधान

बदलते औद्योगिक ढाँचें में युवाओं के लिये अनेक अवसर - धर्मेंद्र प्रधान

बदलते हुए औद्योगिक ढाँचें में भारत के युवाओं के लिए अनेक अवसर खुले हैं. व्यवसाय करने का तरीका पहले अलग था लेकिन तकनीक में हुए परिवर्तन और समाजिक बदलाव के चलते आज व्यवसाय में युवाओं को अधिक अवसर उपलब्ध हो रहे हैं. उपरोक्त भावनाएँ केंद्रीय प्राकृतिक गॅस एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जी ने व्यक्त की. एनयसीएस द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने अपना मत प्रदर्शित किया...