बदलते औद्योगिक ढाँचें में युवाओं के लिये अनेक अवसर - धर्मेंद्र प्रधान


बदलते हुए औद्योगिक ढाँचें में भारत के युवाओं के लिए अनेक अवसर खुले हैं. व्यवसाय करने का तरीका पहले अलग था लेकिन तकनीक में हुए परिवर्तन और समाजिक बदलाव के चलते आज व्यवसाय में युवाओं को अधिक अवसर उपलब्ध हो रहे हैं. उपरोक्त भावनाएँ केंद्रीय प्राकृतिक गॅस एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जी ने व्यक्त की. एनयसीएस द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने अपना मत प्रदर्शित किया.

मोबाईल अॅप पे टीएम और झोमॅटो का उदाहरण देते हुए धर्मेंद्र जी ने कहा की, पहले के जमाने में व्यवसाय करना बहुत कठीन होता था. सभी को अवसर मिले यह जरूरी नहीं था, लेकिन आज के जमाने में तकनीक में हुए सुधार के चलते झोमेटो ऑर पे टीएम जैसे अॅप्स आए हैं. इन कंपनियों ने महज चार- पाँच वर्षों में कई करोड का व्यवसाय खडा किया है. यह युवाओं के लिए प्रेरणादाई है. 

साथ ही चेन्नई के एक युवक का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया की, केवल हॉटेल्स में ग्राहकों को वह हॉटेल कैसा है यह बताने वाली एक यंत्रणा तयार करने वाला व्यवसाय एक युवक ने शुरु किया. इस व्यवसाय में उसे और हॉटेल्स को काफी फायदा हुआ. इस प्रकार के अनेक छोटे बडे व्यवसाय आज के युवा स्वयं की सूझबूझ और तकनीकी सहायता से खडे कर सकते हैं.

एनवायसीएस आज देश के ४०० जिलों में पॅंहुच चुका है. और युवाओं को नये नये अवसर प्रदान करने में एनवायसीएस का भी बडा योगदान रहा है. युवाओं में कुछ नया करने की उमंग आज के बदलते परिवेश में पैदा हुई है. एनवायसीएस भी इसी उमंग को बढाने का प्रयत्न कर रहा है. ऐसी भावनाएँ धर्मेंद्र प्रधान जी ने व्यक्त की.